एक दरगाह जहां चढ़ायी जाती है सिगरेट | A dargah where cigarettes are offered

 भारतियो में आस्था कि ज्योत हमेशा से जलती आ रही है। भारत में आपको बहुत कम लोग ऐसे मिलेंगे जो नास्तिक हो। भारतीय लोग भगवान में बहुत आस्था रखते हैं। भारत में ऐसे कई धार्मिक स्थल है जो अपने चमत्कारों से भरे पड़े है। जो भारत ही नहीं देश दुनिया के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते है। भारत में हर प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के पीछे एक पौराणिक कथा जुडी हुई है। ऐसे ही धार्मिक स्थलों में से एक है सिगरेट वाले बाबा कि मजार।


एक मजार जहाँ चढ़ायी जाती है सिगरेट | Cigarette Wale Baba

दरगाह के पीछे की कहानी | Story Of Dargah :

इतिहासकारो के मुताबिक लखनऊ के हरदोई रोड के किनारे एक हवेली (मूसाबाग) थी। जिसका निर्माण 1775 में नवाब आसिफउद्दौला ने करवाया था। बात उस समय की है जब भारत पर अंग्रेजो की हुकूमत थी। 1857 में अंग्रेजों और भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के बीच हुई गोलीबारी में ये इलाका पूरा का पूरा खंडहर बन गया। इसी जगह एक अंग्रेज सेना के अधिकारी कैप्टन एफ वेल्स की मजार है जो एक लड़ाई के दौरान 21 मार्च 1858 को मारे गये थे।

ऐसा माना जाता है स्वतंत्रता संग्राम के दौरान एक हादसे में मारे गए कैप्टन एफ वेल्स की मजार पर एक पत्थर है जिस पर 21 मार्च 1858 की तारीख अंकित है। यह मजार "सिगरेट बाबा कि मजार" के नाम से प्रसिद्ध है।

चढ़ाई जाती है सिगरेट | Offering Cigarette :

यहा सभी धर्मों के लोग नमन करते हैं। यह एक अंग्रेज़ी सैनिक कैप्टन एफ वेल्स की दरगाह है। यहा पूजा सामग्री के साथ सिगरेट और शराब भी दी जाती है। कैप्टन वेल्स सिगरेट और शराब के शौकीन थे। यही कारण है कि इस स्थान को सिगरेट बाबा कि मजार के नाम से जाना जाता है। सालों से चली आ रही इस रीति के पीछे मान्यता है कि कप्तान बाबा कि मजार पर सिगरेट चढ़ाने से बाबा प्रसन्न होंगे और उनकी मुरादे पूरी करेंगे इसीलिये यहा सिगरेट की पेशकश की जाती है। कैप्टन बाबा कि मजार पर सिगरेट चढ़ाने के लिए हर गुरुवार श्रद्धालुओं का तांता लगता है।

कब से शुरू हुई कैप्टन की पूजा | When Did Puja Start :

इस बारे में कोई भी नहीं जानता कि कैप्टन एफ वेल्स की कब्र पर पूजा कब और कैसे शुरु हुई। स्थानी लोगों के अनुसार यहा पूजा का रिवाज काफी लम्बे समय से चला आ रहा है, लोग मानते है कि उनके पूर्वज यहा आकर पूजा किया करते थे इसीलिए ये लोग भी यहा आते हैं।

कहाँ स्थित है | Where is Located :

यह मजार उत्तरप्रदेश के लखनऊ शहर में स्थित है। जो लखनऊ में पुराने शहर के पश्चिमी छोर पर, मुख्य हरदोई मार्ग से पाँच किलोमीटर दूर है। यह जगह मूसाबाग के नाम से प्रसिद्ध है। 
एक दरगाह जहां चढ़ायी जाती है सिगरेट | A dargah where cigarettes are offered एक दरगाह जहां चढ़ायी जाती है सिगरेट | A dargah where cigarettes are offered Reviewed by Bharat Darshan on अगस्त 16, 2021 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.